Namaz Ka Tarika In Hindi । नमाज पढ़ने का सही तरीका

दोस्तों अस्सलाम अलैकूम । दोस्तों अगर आप नमाज का सही तरीका और सुन्नत तरीका सीखना चाहते हैं तो। इस पोस्ट को ध्यान से सूरू से आखिर तक जरूर पढ़ें। इंशा अल्लाह आपके लिए नमाज पढना बिल्कुल आसान हो जाएगा। दोस्तों हम सबको मालूम ही है की पांच वक़्त की नमाज़ हर मुस्लमान मर्द हो या औरत पर फ़र्ज़ (ज़रूरी) है। चाहे आप जिस भी हाल में हों नमाज़ का छोड़ना जाएज़ नहीं है। नमाज पढ़ना हर मुसलमान मर्द और औरत पर फ़र्ज़ है। एक दिन में 5 वक्त की फ़र्ज़ नमाज़ पढ़ी जाती है। इन पांचों फ़र्ज़ नमाज़ो को हमने नीचे लिखा हुआ है।‌ सबसे पहले आपकों ये जानकारी होना चाहिए की एक वक्त की नमाज में कितने सुन्नत और कितने फ़र्ज़ नमाज़ पढ़ी जाती है। दोस्तों फज्र के वक्त (सुबह की नमाज) में कुल 4 चार रकात नमाज अदा होती है। जिसमें सबसे पहले 2 रकात सुन्नत और फिर 2 रकात फ़र्ज़ नमाज़ पढ़ी जाती है। दोस्तों इसी तरह सभी नमाज के रकात को जानने के लिए इस आर्टिकल को पुरा पढ़ें। पांचों फ़र्ज़ नमाज़ो की रकात 

Namaz Ka Tarika In Hindi । नमाज पढ़ने का सही तरीका 



Namaz Ka Tarika In Hindi । नमाज पढ़ने का सही तरीका


5 फ़र्ज़ नमाज़ के नाम हिंदी में

फ़र्ज़ नमाज़ पांच तरह की होती हैं जो दिन के कई हिस्से में पढ़ी जाती हैं। सुबह, दोपहर, दोपहर बाद, साम और रात की नमाज। इनके नाम कुछ इस तरह है। 
  1. फज़र की नमाज़ (सुबह 5 बजे पढ़े जाने वाली नमाज़ )
  2. जोहर की नमाज़ (दोपहर 1 बजे पढ़ी जाने वाली नमाज़)
  3. असर की नमाज़ (शाम को 5 बजे पढ़े जाने वाली नमाज़)
  4. मगरिब की नमाज़ (रात को 6 बजे पढ़े जाने वाली नमाज़ )
  5. ईशा की नमाज़ (रात को 8 बजे पढ़ी जाने वाली नमाज़ )

Namaz Padhne Se Pahle । नमाज पढ़ने से पहले।

दोस्तों नमाज पढ़ने से पहले हमें कुछ चीजों का ख्याल रखना बहुत जरूरी है। नमाज पढ़ने से पहले हमें पाक साफ होना चाहिए और वजू में रहना चाहिए। 

गुसल करना ( नहाना) 

दोस्तों नमाज पढ़ने से पहले हमें पाक साफ होना बहुत जरूरी है। अगर हम पाक साफ नहीं रहेंगे तो हमारी नमाज नहीं होगी। दोस्तों नमाज पढ़ने से पहले हमें अच्छी तरह से गुसल (नहाना) करना चाहिए। एक बार आपको अच्छे से नहाने के बाद आप गन्दी जगहों पर ना जाएं और अगर जाएं तो अपने शरीर और कपड़ों पर गन्दगी ना लगाएं। दोस्तों जब भी आप इसतिनजा (पेशाब) करने जाएं तों बैठ कर करें। और ध्यान रखें कि पेशाब के छीटे आपके उपर न आए। और पेशाब करने के बाद पानी से जरूर धोएं। इस से आपकों बार बार नहाना नहीं पड़ेगा। 

वज़ू करना 

दोस्तों नमाज पढ़ने से पहले हमें चाहिए कि अच्छे से वजू करें। वज़ू करने के लिए आपको साफ पानी लेकर किसी अच्छी जगह पर बैठ कर हाथ मुंह पैर धोने होते हैं। दोस्तों हमने तफसील के साथ बताया है कि वज़ू करने का सही तरीका क्या है। वजू की दुआ और वज़ू का तरीका

Namaz Ka Tarika In Hindi । नमाज पढ़ने का सही तरीका 

दोस्तों वज़ू करने के बाद हम नमाज पढ़ने के लिए तैयार हों चुके हैं। अब हम समझेंगे नमाज कैसे पढ़ी जाती है। दोस्तों 2 रकात, 3 रकात, 4 रकात नमाज कैसे पढ़ते हैं। क्या क्या पढ़ा जाता है। हम तफसील के साथ लिख रहे हैं। आप ध्यान से पढ़ें। हमें उम्मीद है आपको समझने में आसानी होगी।

नमाज पढ़ने से पहले हमें नमाज की नीयत करना जरूरी होता है। नियत करने के लिए पांचों वक्त के नमाज़ो का नाम याद होना जरूरी है। आइए जानते हैं नमाज की नीयत कैसे किया जाता है। नीयत दिल से इरादे से कहने को कहते हैं । हर नमाज़ की नीयत करना ज़रूरी। हर नमाज़ की नीयत करने का तरीक़ा लगभग एक ही जैसा होता है। बस आप जिस वक्त की नमाज़ पढ़ रहे हैं उस नमाज़ का नाम लेना, सुन्नत पढ़ रहे हैं या फिर फर्ज या नफील या वित्र नमाज़ उसकी नीयत करना।

(1) Namaz Ka Tarika । नमाज का तरीका 


जब आप नमाज के लिए खड़े हो जाएं तो सबसे पहले बिस्मिल्लाहिर - रहमानिर् -रहीम पढ़ कर क़िब्ले की तरफ मुंह करके खड़े हो जाएं। और फिर नमाज की नीयत इस तरह करें।

Namaz Ka Tarika In Hindi । नमाज पढ़ने का सही तरीका


(2) Namaz Ki Nitat । नमाज़ की नीयत और दुआ पढ़ना


इन्नी वाज्जःतु वजहिया लिल्लज़ी फतरसामावाती वलअर्ज़ा हनी -फ़ो -व- वमा आना मिनल मुशरिकीन

Namaz Ki Niyat Ka Tarika । नमाज़ की नीयत करने का तरीक़ा


अगर आप फजर की फ़र्ज़ नमाज़ की नीयत करेंगे तो ऐसे करेंगे। 

नीयत करता हु मैं 2 रकात नमाज़ ए फ़र्ज़ वक़्त फजर , रुख मेरा काबा शरीफ (क़िब्ला) की तरफ, पीछे इस इमाम के, वास्ते अल्लाह तआला के , अब अल्लाहु अकबर कहकर दोनों हाथ को कानो तक उठाकर बांध लेंगे।

Namaz Ka Tarika । नमाज का तरीका


नोट :- अगर आप नमाज अकेले पढ़ रहे हैं तो "पिछे इस इमाम के" नहीं कहना है।  और अगर किसी दुसरे वक्त की पढ़ रहे हैं तो "2 रकात नमाज़ " की जगह 3 रकात, 4 रकात नमाज और "फ़र्ज़ " की जगह सुन्नत, नफील, वित्र, और "फजर" की जगह पर जोहर, असर, मगरिब, इशा कर दे ।


(3) Namaz me padhi Jane wali Surah । नमाज में पढ़ी जाने वाली सूरह 


Namaz Ka Tarika । नमाज का तरीका

नोट:- अल्लाहु अकबर कह कर हाथ बांधने के बाद सबसे पहले सना पढ़ा जाता है। फिर
तअव्वुज, तस्मियाह पढ़ा जाता है उसके बाद सूरह फातिहा फिर कुरआन मजीद की कोई एक सूरह जो आपकों याद हो आइये तफसील से जानते हैं

(4) Sana in Hindi। सना दुआ हिन्दी में 

सुब्हान-कल्ला हुम्मा व बिहम्दिका व तबा-रा-कस्मुका व तआला जद्दु-का वलाइलाहा ग़ैरुक।

(5) Tauz Tasmia in Hindi । तअव्वुज, तस्मियाह हिन्दी में 

अउजू बिल्लाहि मिनश शैतान निर्रज़ीम (1) 
 बिस्मिल्लाही र्रहमानिर रहीम (2)

(6) Surah Fatiha in Hindi । सूरह फातिहा हिन्दी में।


अल्हम्दुलिल्लहि रब्बिल आलमीन @ 
अर रहमा-निर-रहीम @ 
मालिकि यौमिद्दीन @ 
इय्याका न अबुदु व इय्याका नस्तईन @ 
इहदिनस् सिरातल मुस्तक़ीम @ 
सिरातल लज़ीना अन अमता अलय हिम @ 
गैरिल मग़दूबी अलय हिम् वलज़्ज़ाल्लीन 
(आमीन)। 

इस लिंक पर क्लिक करके सूरह फातिहा की फजीलत हिंदी में पढ़ सकते हैं।

 क़ुरान शरीफ की सूरह पढ़े

कुरआन मजीद की जो भी सूरह याद हो आप पढ़ सकते हैं। जैसे, सूरह फलक, सूरह इखलास, सूरह अल फिल, सूरह हुमजह ,सूरह अन नास, हमने आपके लिए कुरआन मजीद की एक छोटी सूरह लिखा है इसे आप पढ़ सकते हैं।

(7) Surah Falak in Hindi । सूरह फलक हिन्दी में


कुल अऊजु बिरब्बिल फलक (1)
मिन शररि मा ख़लक़ (2)
वमिन शररि ग़ासिकिन इज़ा वकब (3)
वमिन शररिन नफ़ फ़ासाति फ़िल उक़द (4)
वमिन शररि हासिदिन इज़ा हसद (5)

इस लिंक पर क्लिक करके सूरह फलक की फजीलत हिन्दी में पढ़ सकते हैं।


नोट:- जब इतना पढ़ लें फिर अल्लाहु अकबर कहते हुए रुकू में झुक जाएं।

(8) Ruku Ki Dua in Hindi । रुकू करना 


Ruku Ki Dua in Hindi


रुकू में झुक जानें के बाद 3 या 5 मर्तबा सुबहान रब्बीअल अज़ीम कहें। उसके बाद समीअल्लाहु लिमन हामिदा कहते हुवे रुकू में से खड़े हो जाये। खड़े होने के बाद एक बार रब्बना लकल हम्द कहें।

(10) रुकूं से खड़ा होना 

Ruku Ki Dua in Hindi



नोट:- अब हमें सजदा करना है। और सजदे में क्या पढ़ना है। चलिए जानते हैं

(11) Sajda Ki Dua । सजदा करना 



Sajda Ki Dua


अल्लाहु अकबर कहते हुए सज़दे में चले जाये। सज़दे में रहते हुए तीन या पांच मर्तबा सुबहान रब्बीअल आअला कहें। फिर अल्लाहु अकबर कहते हुए खड़े हो जाएं।

नोट:- दोस्तों आपकी एक रकात नमाज पुरी हो गई।

namaz ki dusri rakat । नमाज की दुसरी रकात 


Namaz Ka Tarika । नमाज का तरीका

Surah Fatiha in Hindi । सूरह फातिहा हिन्दी में।


अल्हम्दुलिल्लहि रब्बिल आलमीन @ 
अर रहमा-निर-रहीम @ 
मालिकि यौमिद्दीन @ 
इय्याका न अबुदु व इय्याका नस्तईन @ 
इहदिनस् सिरातल मुस्तक़ीम @ 
सिरातल लज़ीना अन अमता अलय हिम @ 
गैरिल मग़दूबी अलय हिम् वलज़्ज़ाल्लीन 
(आमीन)। 

Surah Ikhlas in Hindi । सूरह इखलास हिन्दी में


कुल हुवल लाहू अहद
अल्लाहुस समद
लम यलिद वलम यूलद
वलम यकूल लहू कुफुवन अहद ।



नोट:- जब इतना पढ़ लें फिर अल्लाहु अकबर कहते हुए रुकू में झुक जाएं।

Ruku Ki Dua in Hindi । रुकू करना 



Ruku Ki Dua in Hindi


रुकू में झुक जानें के बाद 3 या 5 मर्तबा सुबहान रब्बीअल अज़ीम कहें। उसके बाद समीअल्लाहु लिमन हामिदा कहते हुवे रुकू में से खड़े हो जाये। खड़े होने के बाद एक बार रब्बना लकल हम्द कहें।


Ruku Ki Dua in Hindi


नोट:- अब हमें सजदा करना है। और सजदे में क्या पढ़ना है। चलिए जानते हैं।

Sajda Ki Dua । सजदा करना।

अल्लाहु अकबर कहते हुए सज़दे में चले जाये। सज़दे में रहते हुए तीन या पांच मर्तबा सुबहान रब्बीअल आअला कहें। 

Sajda Ki Dua

फिर अल्लाहु अकबर कहते हुए अच्छे से बैठ जाएं । जब अच्छे से बैठ जाएं तो सबसे पहले (1) अत्तहिय्यात (2) दरूद इब्राहीम (3) दुआएं मासुरा पढ़ें 

Namaz Ka Tarika in Hindi। नमाज का तरीका हिन्दी में

(1) Attahiyat in Hindi  । अत्तहिय्यात हिन्दी में।

नोट:- अत्तहिय्यात में जब आप अशहदु अल्ला इला-हा पर पहुंचे तो अपने दाहिने हाथ की शहादत वाली ऊँगली को उठादे और जब इल्लल्लाहु पढ़े तब नीचे करले। अत्तहिय्यात हिंदी में पढ़ने के लिए क्लिक करें।


अत्तहिय्यातु लिल्लाहि वस्सलवातु वत्तय्यिबातु अस्सलामु अलैका अय्युहन-नबिय्यु व रहमतुल्लाहि व ब-रकातुहू 
अस्सलामु अलैना व अला इबादिल्ला हिस्सालिहीन अशहदु अल्ला इला👇-हा इल्लल्लाहु व अशहदु अन्ना मुहम्मदन अब्दुहू व रसूलुहू।


Namaz Ka Tarika in Hindi। नमाज का तरीका हिन्दी में

(2) Darood Ibrahim in Hindi । दरूद इब्राहीम हिन्दी में 


अल्लाहुम्मा सल्लि अला मुहम्मदिंव वअला आलि मुहम्मदिन कमा सल्लैता अला इब्राहीमा व अला आलि इब्राहि-म इन्न-क हमीदुम्मजीद । 
अल्लाहुम्मा बारिक अला मुहम्मदिंव व अला आलि मुहम्मदिन कमा बारकता अला इब्राहिमा व अला आलि इब्राहि-म इन्नका हमीदुम्मजीद। 


(3) Dua e Masura । दुआ ए मसुरा पढ़े

अल्ला हुम्मा इन्नी ज़लम्तु नफ़्सी ज़ुलमन कसीरंव वला यग़्फिरुज़-जुनूब इल्ला अन-त फ़गफ़िरली मग़-फिरतम मिन इनदिका वर-हमनी इन्नका अन्तल गफ़ुरुर्रहीम।


जब तीनों दुआएं पढ़ लें फिर पहले दाहिनी तरफ मुँह फेरते हुए अस्सलामु अलैकुम वरह मतुल्लाह फिर बाए तरफ मुँह फेरते हुए अस्सलामु अलैकुम वरह मतुल्लाह पढ़े।

Namaz Ka Tarika in Hindi। नमाज का तरीका हिन्दी में




दोस्तों इस तरह आपकी दो रकात नमाज हो जाती है।  नमाज के बाद अल्लाह तआला के बारगाह में दुआ करे। इंशा अल्लाह अल्लाह तआला आपकी तमाम परेशानियां दुर कर देंगे। 

4 रकात नमाज का तरीका । 4 Rakat Namaz Ka Tarika 

अगर आप 4 रकात नमाज पढ़ रहे हैं तो दुसरी रकात में अत्तहिय्यात पढ़ने के बाद अल्लाहू अकबर कह कर खड़े हो जाएं और फिर सूरह फातिहा पढ़ कर रुकूं करे फिर सजदा करें और फिर अल्लाहु अकबर कह कर खड़े हो जाएं और फिर से सूरह फातिहा पढ़ कर रुकूं करे सजदा करे और इस बार बैठ कर अत्तहिय्यात पढ़ें फिर दरूद इब्राहीम और फिर दुआं ए मासूरा पढ़ कर सलाम फेर दे। इस तरह आपकी चार रकात नमाज अदा हो जाती है।

मगरिब की 3 रकात नमाज का तरीका। 3 Rakata Namaz Ka Tarika 


दोस्तों 2 रकात नमाज ही की तरह पढे। जब दुसरी रकात मे बैठ कर अत्तहिय्यात पढ़ ले फिर अल्लाहु अकबर कह कर खड़े हो जाएं और फिर सूरह फातिहा पढ़ कर रुकूं करे सजदा करे और फिर बैठ कर अत्तहिय्यात पढ़ें फिर दरूद इब्राहीम पढ़ें और फिर दुआं ए मासूरा पढ़ कर सलाम फेर ले।


Conclusion

दोस्तों हमे उम्मीद है आप लोगों को नमाज़ पढ़ने का तरीका समझ में आ गया होगा। अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर जरुर करे और कमेंट में माशाअल्लाह जरूर लिखें। अल्लाह तआला हमें और आपको दिन के सीधे रास्ते पर चलने की तौफीक अता करें। आमीन।



Next Post Previous Post
6 Comments
  • Anonymous
    Anonymous March 22, 2024 at 4:19 AM

    Mashaallah

    • Anonymous
      Anonymous March 25, 2024 at 6:07 AM

      Shukriya ❤️

  • Anonymous
    Anonymous March 22, 2024 at 12:33 PM

    Thanks for this Blog and for teaching in the most simplest way possible. Allah will Bless you. You might have saved this Little life. ❣️

  • Anonymous
    Anonymous March 27, 2024 at 6:10 AM

    Mashallah

  • Anonymous
    Anonymous April 9, 2024 at 12:04 AM

    MashaAllah Allah aapki har dua qubul kre Shukriya

  • Anonymous
    Anonymous April 11, 2024 at 6:12 AM

    Aap ka bahut bahut shukriya Bhai

Add Comment
comment url

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now