आयतुल कुर्सी हिन्दी में तर्जुमा के साथ। Ayatul Kursi In Hindi.

Ayatul Kursi Hindi : दोस्तों आयतुल कुर्सी हर मुसलमान को याद होना चाहिए। क्योंकि आयतुल कुर्सी पढ़ने के बहुत से फायदे हैं। एक हदीस में कहा गया है कि " जो इंसान हर फ़र्ज़ नमाज़ के बाद आयतुल कुर्सी पढ़ता हों, उस इंसान को जन्नत में जाने से कोई चीज़ नहीं रोक सकती है,। सबसे ज्यादा अज़मत वाली आयतों में से एक है आयतुल कुर्सी। अगर आपको याद नहीं है । तो कोई बात नहीं। हमने यही पर आयतुल कुर्सी तीन अलग-अलग भाषाओं में तर्जुमा के साथ लिखा है । जिसे आप को याद करने में आसानी होगी। Ayatul Kursi Hindi  । हिंदी में आयतूल कुर्सी ।

आयतुल कुर्सी हिन्दी में तर्जुमा के साथ। Ayatul Kursi In Hindi.
आयतुल कुर्सी हिन्दी में तर्जुमा के साथ। Ayatul Kursi In Hindi.


आयतुल कुर्सी हिन्दी में। Ayatul Kursi In Hindi.


बिस्मिल्लाहिर् रहमानीर् रहीम।
بِسْمِ اللَّـهِ الرَّحْمَـٰنِ الرَّحِيمِ

अल्लाहु ला इलाहा इल्लाहू अल हय्युल क़य्यूम
اللَّـهُ لَا إِلَـٰهَ إِلَّا هُوَ الْحَيُّ الْقَيُّومُ ۚ

ला तअ’खुज़ुहू सिनतुव वला नौम
لَا تَأْخُذُهُ سِنَةٌ وَلَا نَوْمٌ

लहू मा फिस सामावाति वमा फ़िल अर्ज़
لَّهُ مَا فِي السَّمَاوَاتِ وَمَا فِي الْأَرْضِ

मन ज़ल लज़ी यश फ़ऊ इन्दहू इल्ला बि इज़निह
مَن ذَا الَّذِي يَشْفَعُ عِندَهُ إِلَّا بِإِذْنِهِ

यअलमु मा बैना अयदीहिम वमा खल्फहुम
يَعْلَمُ مَا بَيْنَ أَيْدِيهِمْ وَمَا خَلْفَهُمْ ۖ

वला युहीतूना बिशय इम मिन इल्मिही इल्ला बिमा शा..अ
وَلَا يُحِيطُونَ بِشَيْءٍ مِّنْ عِلْمِهِ إِلَّا بِمَا شَاءَ ۚ

वसिअ कुरसिय्यु हुस समावति वल अर्ज़
وَسِعَ كُرْسِيُّهُ السَّمَاوَاتِ وَالْأَرْضَ ۖ

वला यऊ दुहू हिफ्ज़ुहुमा वहुवल अलिय्युल अज़ीम
وَلَا يَئُودُهُ حِفْظُهُمَا ۚ وَهُوَ الْعَلِيُّ الْعَظِيمُ 

Ayatul Kursi Hindi । आयतुल कुर्सी हिन्दी में

आयतुल कुर्सी हिन्दी में तर्जुमा के साथ। Ayatul Kursi In Hindi.
आयतुल कुर्सी हिन्दी में तर्जुमा के साथ। Ayatul Kursi In Hindi.

आयतुल कुर्सी हिन्दी तर्जुमा। Ayatul Kursi Hindi Tarzuma.

अल्लाह वह ज़ात है जिसके इलावा कोई सच्चा माबूद नहीं है । हमेशा ज़िंदा रहने वाला और (सब) को क़ायम रखने वाला है, न उसे ऊंघ आती है न नींद, उसी के लिये है जो आसमानों में है और जो ज़मीन में है, कौन है जो उसकी इजाज़त के बगैर उसके पास सिफ़ारिश कर सके, जो लोगों के सामने है और जो उनके पीछे है सब को जानता है, लोग उसके इल्म में से किसी चीज़ का अहाता नहीं कर सकते मगर जो वह चाहे, उसी की कुर्सी आसमानों और ज़मीन को घेरे हुए है, और दोनों की हिफाज़त उसे थकाती नहीं, और वह बुलंद अज़मत वाला है।

हजरत माकल बिन यासर (रजि०) का बयान

हजरत माकल बिन यासर (रजि०) का बयान है कि
“जो शख्स तीन बार आयतुल कुर्सी पढ़ता हो, उस बंदे के लिए अल्लाह तबारक व तआला 70 हजार फरिश्तों को मुकर्रर फरमा देंगे। जो शाम तक उस पर रहमत भेजते रहेगें। और अगर उस दिन वह शख्स मर जाता है तो शाहिद मारेगा। जो शख्स शाम को यह अमल करेगा उस पर भी 70 हजार फ़रिश्ते मुकर्रर कर दिए जाएंगे। जो सुबह तक उस पर रहमत भेजते रहेगें”।

आयतुल कुर्सी की फजीलत । Ayatul Kursi Ki Fajilat.

आयतुल कुर्सी कुरान की सब से अजीम तरीन आयत है हदीस में रसूलल्लाह सल्लल्लाहू अलैहि वसल्लम ने इसको तमाम आयात से अफजल फरमाया है।
हज़रत अबू हुरैरा रजिअल्लाहू तआला अनहू फरमाते हैं कि रसूलल्लाह सल्लल्लाहू अलैहि वसल्लम ने फरमाया : सूरह बकरा में एक आयत है जो तमाम कुरान की आयातों की सरदार है । यह आयत जिस घर में पढ़ी जाये शैतान वहां से निकल जाता है।

आयतुल कुर्सी की खासियत । Ayatul Kursi Ki khasiyat.

इस सूरत में अल्लाह की तौहीद ( अल्लाह को एक मानना ) को साफ तौर पर बताया गया है और शिर्क को रद किया है ।

Conclusion

आयतुल कुर्सी हिन्दी के साथ अरबी में इस लिए लिखा गया है क्योंकि अरबी भाषा को हिन्दी में लिखना बहुत कठिन है। अरबी भाषा को अरबी में पढना आसान है। इसीलिए आयतुल कुर्सी हिन्दी के साथ अरबी में लिखा गया है। तो उम्मीद है आप को ये पोस्ट अच्छा लगा होगा। अगर आपने यहा तक पोस्ट को पढ़ लिया है तो पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे और अगर कहीं गलती से कही कोई हिन्दी का शब्द ग़लत हो तो हमें कमेंट में जरूर बताएं। अल्लाह तआला हमें और दूनिया के तमाम मुस्किलात को दुर करे और दीन के रास्ते पर चलने की तौफीक अता फरमाए। आमीन।

Next Post Previous Post
2 Comments
  • Anonymous
    Anonymous April 4, 2024 at 2:39 PM

    Bhai aapne farz ko fazr likh diya hai

    • Anonymous
      Anonymous April 7, 2024 at 5:17 AM

      और मुकर्रर को मक्कार भी लिख दिया है

Add Comment
comment url

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now